Deprecated: Function wp_get_loading_attr_default is deprecated since version 6.3.0! Use wp_get_loading_optimization_attributes() instead. in /home/u727337328/domains/jameelattari.in/public_html/wp-includes/functions.php on line 6031

How to STOP Overthinking in hindi | ओवरथिंकिंग को रोकने के ५ तरीके

Amazon & Flipkart Offers Follow
Updates Follow
Spread the love

दोस्तों, आज हम बात करने वाले हैं ओवरथिंकिंग को रोकने के तरीके How to STOP Overthinking बारे में। आजकल हर दूसरे या तीसरे इंसान को टेंशन का सामना करना पडता है खास कर मध्‍यम वर्ग के लोग इस परेशानी से ज्‍यादा जुझते नजर आते हैं टेंशन की एक वजह ज्‍यादा सोचना यानि ओवरथिंकिंग Overthinking होती है आज हम ओवरथिंकिग क्‍या है ये क्‍यों होती है और इससे कैसे बचा जा सकता है

ओवरथिंकिग क्‍या है

कभी कभी हमारे दिमाग में एक ही बात घूमती रहती है हम उसी बात को सोचते रहते हैं ओवरथिंकिग हमारे दिमाग के साथ साथ हमारे शरीर के लिए भी नुकसानदायक है ओवरथिकिंग की वजह से समस्‍या का हल हमारे सामने होता है लेकिन हमें दिखाई नहीं देता हमारी जिन्‍दगी और करियर में कई बार समस्‍याएं बडी नहीं होती हम उसे सोच साेचकर बडा कर देते हैं Overthinnking कोई बिमारी नहीं है लेकिन अगर इसे ठीक न किया जाये तो ये हमें बिमारी की तरफ ले जा सकती है

ओवरथिंकिग के नुकसान

  • ओवरथिंकिग में हम सही निर्णय नहीं ले पाते
  • ओवरथिंकिंग की वजह से हमारा दिमाग हालात को समझ नहीं पाता
  • ओवरथिंकिंग की वजह से हम बिना मतलब अपनी एनर्जी बर्बाद करते हैं

ओवर‍थिंकिंग के लक्षण

  • Overthinnking की वजह से हम कोई फैसला नहीं ले पाते
  • Overthinnking की वजह से हम समस्‍या का समाधान नहीं कर पाते बस समस्‍या से होने वाले नुकसान के बारे में सोचते रह जाते है
  • Overthinnking की वजह से एक ही बात हमारे दिमाग में घूमती रहती है दिमाग दूसरी जगह लगाने की कोशिश करने के बावजूद हम उस बात को नहीं भूल पाते
  • Overthinnking की वजह से आपकी नींद खराब हो जाती है आप सो नहीं पाते सोने की कोशिश करने के बावजूद आपका नींद नहीं आती

Overthinnking को दूर कैसे करें How to STOP Overthinking

  • हर चीज को कन्‍ट्रोल करने की कोशिश न करें हर चीज या काम हमारे बस का हो यह जरूरी नहीं उदाहरण के तौर पर उसने ऐसा क्‍यूं कहा उसे ऐसा नहीं कहना चाहिए था ऐसे कई उदाहरण हो सकते हैं
  • खुद का बदलने के लिए तैयार रहें सब आपके हिसाब से चलेंं ये जरूरी नहीं सबकी अपनी अपनी लाइफ है
  • कोई भी निर्णय लेना हो तो जल्‍दी लें इसका मतलब ये नहीं कि गलत निर्णय लें अगर आप निर्णय लेने में देरी करेंगे तो आपका दिमाग आपको Overthinnking में फंसा देगा
  • हर किसी बात को लेकर यह नहीं सोचना है कि ये क्‍यू हो रहा है ये नहीं होना चाहिए जो हो रहा है उसका हल निकालो नहीं निकाल सकते तो साेचना बंद करो
  • जो भी चीजें आपके दिमाग में चल रहीं है उनको कागज पर लिख लो इससे Overthinnking कम हो जाएगी

अन्य पढे़ं –

होम पेजक्लिक करें
Amazon और Flipkart के ऑफर फ्री में जानने के लिए हमारे टेलीग्राम चैनल को जॉइन जरूर करेंक्लिक करें
लेटेस्ट अपडेट के लिए टेलीग्राम चैनल जॉइन करेंक्लिक करें
अमेजन स्टोरक्लिक करें

Get Amazon & Flipkart Offers Join
Join Facebook Group Join

Leave a Comment

error: Content is protected !!